Farming in America: क्यों भारतीय किसानों से आगे हैं अमेरिकी किसान, जानिए सही वजह

Farming in America : भारत किसानों का देश है, यहां के ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी अधिकांश युवा खेती करके अपना जीवन यापन करते हैं।

लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे देश के अलावा विदेशों में भी खेती की जाती है। वहां भी किसान खेती करके अपनी जीविका चलाते हैं।

आपको बता दें कि अमेरिका को पूरी दुनिया का सबसे ताकतवर देश कहा जाता है। वहां के लोग खेती भी करते हैं। अक्सर देखा गया है कि लोगों की जिज्ञासा होती है कि क्या भारत जैसे विदेशों में खेती होती है।

वहां के किसान भी हमारे देश के किसान भाइयों की तरह खेतों में काम करते हैं। तो आइए आज हम इस लेख के माध्यम से इन सभी सवालों के जवाब जानने की कोशिश करते हैं।

अमेरिका में करीब 26 लाख किसान

एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अमेरिका में किसानों की संख्या 26 लाख तक है. यह भी पता चला है कि यहां के किसानों के पास करीब 250 हेक्टेयर जमीन है।

अमेरिका के किसान और भारत के किसान में यही अंतर है कि हमारे देश के किसान भाई खेती से भावनात्मक रूप से जुड़े हुए हैं। लेकिन वहां के किसान भावनात्मक रूप से कम, व्यावसायिक रूप से ज्यादा जुड़े हुए हैं।

पहले भारत में किसानों की छवि अनपढ़ हुआ करती थी, लेकिन अब धीरे-धीरे शिक्षित किसान भी खेती करके अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ अमेरिका में ज्यादातर किसान डिग्री होल्डर हैं। अधिक शिक्षित होने के कारण वह खेती में नई-नई तकनीकों का प्रयोग करता है।

अमेरिका में फल-सब्जियां सबसे अधिक 

भारत में किसान लगभग सभी प्रकार की खेती करते हैं। लेकिन अमेरिका के किसान सबसे ज्यादा वही खेती करते हैं जिससे उन्हें कई गुना फायदा होता है।

अमेरिका में उगाए जाने वाले प्रमुख फल और सब्जियां

  • फल: स्ट्रॉबेरी सेब, संतरा, केला, मोसी, तरबूज, अमरूद, पपीता, ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी आदि।
  • सब्जीः आलू, टमाटर, स्विस चार्ड, खीरा, भिंडी, गाजर, लहसुन आदि की खेती की जाती है।

किसानों की आय

आज के समय में भारत के किसान कई बेहतरीन तकनीकों का इस्तेमाल कर खेती से लाखों का मुनाफा कमा रहे हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक साल 2019-20 में किसानों की आय में 7 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

उसी तरह अमेरिका के किसानों की आय भी बढ़ रही है। देखा जाए तो वहां के किसान की एक साल में औसतन करीब 70 से 80 लाख रुपए की आमदनी होती है।

Leave a Comment