Beej Gram Yojana 2023: यहां जानें बीज ग्राम योजना क्या है? कैसे किसानों को मिलेगा लाभ, पात्रता और कैसे करे आवेदन

Beej Gram Yojana in Hindi  : किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। यहां तक कि सरकार भी किसानों की बुनियादी समस्याओं के समाधान के लिए नई-नई योजनाएं शुरू कर रही है, ताकि किसान इन योजनाओं का लाभ उठा सकें और अपनी आमदनी बढ़ा सकें। बीज किसी भी फसल के बेहतर उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, बिना बीज के हम फसल उगाने की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं।

इसी लिये अच्छी फसल प्राप्त करने के लिए किसानों को अच्छी गुणवत्ता वाले बीजों का चुनाव करना बहुत जरूरी है। लेकिन आज के समय में बाजार में कई तरह के नकली बीज आ गए हैं, जो किसानों की फसल पर गलत परिणाम देते हैं और सही बीजों की कालाबाजारी के कारण किसानों को उच्च गुणवत्ता वाले बीज नहीं मिल पाते हैं।

किसानों की इस समस्या के कारण भारत सरकार द्वारा बीज ग्राम योजना चलाई जाती है। ताकि किसान अपनी सुविधा के अनुसार सरकार से अच्छी गुणवत्ता वाले बीज प्राप्त कर सकें। तो आइए जानते हैं सरकार की बीज ग्राम योजना के बारे में विस्तार से, ताकि किसान भाई इससे जुड़कर आसानी से लाभ प्राप्त कर सकें।

बीज ग्राम कार्यक्रम क्या है?

बीज ग्राम कार्यक्रम भारत सरकार द्वारा वर्ष 2014-15 में शुरू किया गया था। इस योजना में किसानों को न केवल बीज बल्कि बीज उत्पादन में भी सहायता प्रदान की जाएगी।

इसके अलावा इस योजना के तहत किसान भाइयों को समय-समय पर कृषि विशेषज्ञों द्वारा उनकी खेती के बीज बोने से लेकर कटाई आदि कार्यों का प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि किसानों को अधिक से अधिक लाभ मिल सके।

योजना का उद्देश्य

  • किसानों के बीच कालाबाजारी को खत्म करने के लिए।
  • किसान उच्च गुणवत्ता वाले बीज प्राप्त कर सकते हैं।
  • किसान आत्मनिर्भर बन सकते हैं।
  • नकली और अनुपयोगी बीजों को बाजार में रोकना मुख्य उद्देश्य है।

योजना का लाभ किसानों को कैसे मिलेगा

  1. किसानों को बीज की आवश्यकता पूरी करने के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा।
  2. किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलेगी।
  3. इस योजना में किसान भाइयों को कृषि विशेषज्ञों से प्रशिक्षण में नई तकनीकों की जानकारी भी मिलेगी।
  4. इसके अलावा आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को 50% और सामान्य किसानों को 25% तक बेहतर सब्सिडी दी जाएगी।

बीज ग्राम योजना से ऐसे जुड़ें

अगर आप भी सरकार की इस योजना से जुड़कर लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने नजदीकी कृषि कार्यालय में जाकर जिला कृषि अधिकारी से संपर्क करना होगा। जहां से आप आसानी से इस योजना के लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। ध्यान रहे कि इसके लिए आपको अपने सभी जरूरी दस्तावेज अपने साथ ले जाने होंगे।

प्रमाणित बीज कैसे उत्पन्न होता है?

प्रमाणित (authentic) बीजों के उत्पादन के लिए सामान्य तरीके से खेती की जाती है न कि किसी विशेष प्रकार की। कृषि विज्ञान केंद्र से नींव के बीज लाने के बाद उन्हें सरल तरीके से खेतों में बोया जाता है, केवल किसानों को यह ध्यान रखना होता है कि उन बीजों में किसी अन्य फसल के बीज न मिलें। यदि ऐसा होता है तो सही गुणवत्ता वाले बीजों का उत्पादन नहीं हो पाएगा।

उदाहरण के लिए यदि कोई किसान गेहूँ का बीज तैयार करना चाहता है तो इसके लिए सारा काम सरल तरीके से करना होगा, किसान भाई इस बात का ध्यान रखेंगे कि उनमें किसी और फसल का बीज न मिले और वे फसल से रोग लगना। चिपके से बचने के लिए देखभाल की जानी चाहिए। यदि फसल में कोई रोग लग जाता है तो प्रामाणिक बीज का उत्पादन नहीं हो पाएगा।

बीज ग्राम योजना के तहत सब्सिडी उपलब्ध 

बीज ग्राम योजना के तहत किसानों को बीज उत्पादन के लिए सरकार की ओर से सब्सिडी प्रदान की जाती है। छोटे किसानों को बीज बोने के लिए बीज पर 25 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाती है जबकि सामान्य किसानों को बीज पर 25 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाती है। इसके अलावा उन्नत प्रकार के बीजों के उत्पादन में प्रयुक्त होने वाले उर्वरकों, दवाओं और कृषि यंत्रों पर भी सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है।

Leave a Comment