अब प्राकृतिक खेती पर दिया जाएगा जोर, किसानों को सिखाई जाएंगी नई तकनीकें : कृषि मंत्री का बड़ा फैसला

ग्वालियर: केंद्र सरकार अब प्राकृतिक खेती को पाठ्यक्रम में शामिल करने जा रही है. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ग्वालियर में कहा कि इसके लिए कृषि विशेषज्ञ काम कर रहे हैं।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है, अन्य राज्यों की तरह मध्य प्रदेश में भी शुरुआती चरण में पांच हजार किसानों को प्राकृतिक खेती के लिए आगे लाया जा रहा है।

दरअसल, ग्वालियर के राजमाता विजयाराजे सिंधिया विश्वविद्यालय में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें देशभर के 425 कृषि विज्ञान केंद्रों के वैज्ञानिक पहुंचे हैं।

कृषि मंत्री ने किसानों से की बातचीत

इसमें प्राकृतिक खेती की तकनीक को जनता के लिए आसान बनाने पर चर्चा की गई है। प्राकृतिक खेती के लाभ, रसायन मुक्त या गाय आधारित खेती के रूप में परिभाषित।

इस कार्यशाला में भाग लेने के लिए कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ग्वालियर आए थे। उनके साथ उद्यान मंत्री भारत सिंह कुशवाहा भी मौजूद रहेंगे।

इस दौरान उन्होंने न केवल किसानों से बातचीत की, बल्कि किसानों को प्राकृतिक खेती की ओर कैसे बदला जाए, इस पर भी बातचीत की। यह संवाद किया जाता है।

Leave a Comment