PM Kisan Update : इस राज्य के 21 लाख लाभार्थियों का पीएम किसान की सूची से हटा दिया गया नाम

PM Kisan Update : भारत का एक ऐसा तकबा है, जो हर भारतीय की खाने की जरूरत को पूरा करता है। कृषि मंत्रालय की वर्ष 2016-17 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में किसानों की संख्या 100 से 150 लाख के बीच थी।

अब इनमें से ज्यादातर किसान ऐसे हैं, जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं। ऐसे में केंद्र सरकार ने इस वर्ग के लिए कई योजनाएं चलाई हैं। इन्हीं में से एक है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना।

जिसके तहत किसानों के खाते में सालाना 6 हजार रुपये की राशि ट्रांसफर की जाती है. पीएम किसान की यह राशि साल में तीन बार 2-2 हजार रुपये की किस्त के रूप में सीधे किसानों के खाते में भेजी जाती है।

PM Bima Suraksha Yojana : सरकार के इस योजना में मिलता है 2 लाख रुपये का बीमा कवर, जानिए कैसे करें अप्लाई

अब ऐसे में सभी किसानों को पीएम किसान का लाभ नहीं मिल पा रहा है, जिसका मुख्य कारण यह है कि किसानों के पास सही दस्तावेज नहीं हैं या वे इसके लिए पात्र नहीं हैं।

इसके अलावा कई फर्जीवाड़े भी सामने आए। इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश राज्य के करीब 21 लाख किसानों के नाम पीएम किसान सम्मान निधि की सूची से हटा दिए गए हैं।

PM Kisan कि 11वीं किस्त के बाद किसानों के नाम हटाए गए

पीएम किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त आने के बाद लाभार्थियों की सूची से किसानों के नाम काटे जाने लगे, क्योंकि यहीं से फर्जीवाड़ा भी शुरू हो गया।

जिसमें कई लोग गलत तरीके से अपना नाम लाभार्थीयों के रिकॉर्ड में किसानों की सूची में शामिल करवा रहे थे।

यही वजह है कि सरकार बार-बार किसानों को भूमि रिकॉर्ड सत्यापित करने, ई-केवाईसी अपडेट करने और लाभार्थी की स्थिति की जांच करने का आदेश दे रही है।

अगर किसानों की यह जानकारी सही पाई जाती है, तभी उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि की अगली किस्त का लाभ मिल पाएगा।

PM Kisan ई-केवाईसी और भूमि रिकॉर्ड व्हेरीफीकेशन

पीएम किसान सम्मान निधि के लिए ई-केवाईसी बहुत जरूरी हो गया है, जिसके लिए किसान अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र, सीएससी केंद्र या साइबर कैफे में जाकर आवेदन कर सकते हैं।

जहां आपका ई-केवाईसी आसानी से अपडेट हो जाएगा। भूमि अभिलेखों के व्हेरीफीकेशन के लिए अपने नजदीकी जिले के कृषि विभाग के कार्यालय में जाकर सत्यापन कराएं।

PM Kisan अपात्र किसानों को नोटिस भेजा जा रहा है

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के गैर-लाभार्थी या अपात्र किसानों, जिन्होंने फर्जी दस्तावेजों के माध्यम से पीएम किसान से 2,000 रुपये कमाए हैं, को सरकार द्वारा वापसी के लिए नोटिस भेजा गया है।

अगर वह समय पर पैसा नहीं लौटाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा कई बैंकों ने अपात्र किसानों के खाते ब्लॉक कर दिए हैं। किसान जल्द से जल्द अपनी पात्रता की जांच कर लें।

PM Kisan स्टेटस कैसे चेक करें

  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना में किसानों की पात्रता जानने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
  • होम पेज पर आपको Beneficiary Status का एक विकल्प दिखाई देगा, उस पर क्लिक करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा, वहां अपना रजिस्ट्रेशन नंबर डालें।
  • अगर आप अपना रजिस्ट्रेशन नंबर भूल गए हैं तो ‘नो योर रजिस्ट्रेशन नंबर (Registration Number )’ पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर डालकर कैप्चा कोड भरें।
  • अब आपके नंबर पर ओटीपी जाएगा तो उसे वेबसाइट पर दर्ज करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर Get Detail का विकल्प दिखाई देगा, उस पर क्लिक करते ही आपके सामने PM Kisan के लाभार्थी की स्थिति खुल जाएगी।
  • यदि आप पात्र हैं तो भू-अभिलेख दर्ज करवा लें, अन्यथा पीएम सम्मान निधि का पैसा वापस करें।

Leave a Comment